रोहिला शिरोमणि स्व॰ डॉ॰ कर्णवीर सिंह रोहिला का संक्षिप्त जीवन परिचय

रोहिला शिरोमणि सोलंकी कुल, बरनवाल भूषण, स्वर्णपदक विजेता श्रद्धेय स्व॰ डॉ कर्णवीर सिंह रोहिला जी 

जनपद सहारनपुर के गाँव भांकला में पिता श्री सुगन चंद व माता श्रीमति पारसी देवी के यहाँ दिनांक 06 जून 1936 को आपका जन्म हुआ । प्रारम्भिक शिक्षा गाँव में ही हुई तथा हाईस्कूल तक की शिक्षा गोचर महाविद्यालय रामपुर मनिहारान से प्राप्त की, राजकीय आयुर्वेदिक कॉलेज पटियाला से आयुर्वेदाचार्य की डिग्री प्राप्त कर राजकीय सेवा में कार्यरत हुए ।दिनांक 07 फरवरी 1963 को आप श्रीमति रामकुमारी के साथ परिणय सूत्र में बंधे जिन्होने आपको जीवनपर्यन्त रोहिला  समाज को संगठित करने के सपने को साकार करने में भरपूर सहयोग दिया । आप ने हरियाणा आयुर्वेदिक एसोशिएशन के अध्यक्ष पद को भी सुशोभित किया। आप धन्वन्तरी आयुर्वेदिक कॉलेज चंडीगढ़ के संस्थापक सदस्य रहे तथा सनातन धर्म कॉलेज चंडीगढ़ की प्रबंधन समिति क सदस्य रहे। चिकित्सा के क्षेत्र में प्राप्त उपलब्धियों के अंतर्गत भारत के तत्क्कालीन राष्ट्रपति श्री शंकर दयाल शर्मा के द्वारा आपको दिनांक 8 नवम्बर 1996 को द्रोणाचार्य पुरस्कार से अलंकृत किया गया ।

रोहिला समाज की दशा देखकर व्यथित हो समाज को संगठित करने में लगे। स्वधर्म पारायण , राष्ट्रप्रेमी , आक्रांत संहारक , विस्थापित राजपूतों की कड़ी में कठहर – रोहिलखंड से विस्थापित , रोहिला – राजपूतों को, जो एक विरल घनत्व (परचून) में बिखरे हुए अज्ञातवास में जीवन यापन कर रहे थे , को एक मंच पर लाने का बीड़ा उठाया तथा अपने अनेक सहयोगियों के साथ पूरे भारत का भ्रमण कर दिनांक 17 जून1984 को अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद का गठन कर परिषद को अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा से संबद्ध करने के बाद दिनांक 22 अक्तूबर 1989 को जनपद सहारनपुर में अग्रवाल धर्मशाला मे रोहिला क्षत्रिय का एक अखिल भारतीय स्तर का महासम्मेलन आयोजित किया जिसमे लगभग 10,000 की संख्या में रोहिला क्षत्रिय प्रतिनिधि उपस्थित हुये  ।टपरी में अपने कृषि फार्म पर बने भवन में रोहिला औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान की स्थापना की । आजीवन रोहिला क्षत्रिय समाज का कल्याण चाहने वाले ये महामानव अचानक दिनांक 17 मार्च 2000 को प्रभु चरणों में विलीन हो गए । इनके द्वारा समाज हित के किए गए कार्यों को रोहिला क्षत्रिय समाज सदैव याद रहेगा । इनकी धर्मपत्नी श्रीमति रामकुमारी व सुपुत्र डॉ॰ शालीन सिंह भी पूर्णतया रोहिला क्षत्रिय समाज के हितों की रक्षा के लिए कार्यरत हैं। समस्त रोहिला क्षत्रिय समाज इनके द्वारा किए गए कार्यों का सदैव आभारी रहेगा।

कर्तव्य एवं उद्देश्य

संस्था के उद्देश्य एवम् कर्तव्य :

  1. भारतवर्ष के समस्त रोहिला क्षत्रिय बन्धुओ को संगठित करना एवं अपनी जाति के विकास एवं राष्ट्रहित हेतु एक मंच पर लाना।
  2. रोहिला क्षत्रिय बन्धुओ के सामाजिक, आर्थिक एवं शैक्षिक उत्थान हेतु प्रयास करना तथा इस कार्य की पूर्ति के लिये सक्षम एवं उचित साधनों को अपनाना अर्थात सर्वांगीण विकास करना।
  3. परिषद् से सम्बन्धित सदस्यों के हितों की रक्षा करना तथा उनके लिये लोकहितकारी कार्य करना पत्र पत्रिकाओ एवं पुस्तको का प्रकशन करना तथा दुसरे ऐसे कार्य करना जो रोहिला समाज एवं राष्ट्रहित में हो।
  4. सम्पूर्ण भारतवर्ष में स्थानीय, जिला स्तर, प्रान्तीय स्तर एवं केन्द्रीय स्तर पर अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद् की शाखाओं का गठन करना।
  5. समस्त ऐसे कार्य करना जो राष्ट्रीय एकता एवं अखंडता, धर्म निरपेक्षता तथा आपसी सदभाव व भाईचारे को बढ़ाने में सहायक हो
  6. समाज के सहयोग से सभी कुरीतियों जैसे दहेज प्रथा, मृत्यु भोज, विवाह समारोह में माहिलाओ एवं पुरुषो द्वारा अशोभनीय नाचकूद पर रोक लगाकर समाज के बुद्धिजीवियों की सहमति से आदर्श विवाह समारोह आयोजित करना।
  7. रोहिला क्षत्रिय समाज के हितों के लिय किसी भी प्रकार की विधिसम्मत शैक्षिक एवं औधोगिक संस्था एवं संस्थान तथा धर्मशाला इत्यादि की स्थापना एवं संचालन करना जो संस्था द्वारा अलग से बनाये गये नियमों से संचालित होगी।
  8. युवाओ में अच्छे संस्कार पैदा कर अच्छे व्यक्तित्व का निर्माण करना।

केन्द्रीय कार्यकारिणी

श्री रामपाल सिंह रोहिला
डॉ॰ धर्मपाल सिंह रोहिला
श्री कुलदीप सिंह रोहिला
श्री सुभाष चंद रोहिला
श्री रामपाल सिंह रोहिला

श्री रामपाल सिंह रोहिला

मुख्य संरक्षक

डॉ॰ धर्मपाल सिंह रोहिला

डॉ॰ धर्मपाल सिंह रोहिला

राष्ट्रीय अध्यक्ष

श्री कुलदीप सिंह रोहिला

श्री कुलदीप सिंह रोहिला

राष्ट्रीय महामंत्री

श्री सुभाष चंद रोहिला

श्री सुभाष चंद रोहिला

राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष

समाचार एवं आयोजन

25 अक्टूबर 2019 को मनाया जायेगा अंतर्राष्ट्रीय रोहिला दिवस

25 अक्टूबर 2019 को मनाया जायेगा अंतर्राष्ट्रीय रोहिला दिवस

17/06/2019

अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद की एक बैठक जिसमें सहारनपुर से पधारे राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. धर्मपाल सिंह, राष्ट्रीय महामंत्री कुलदीप सिंह, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष सुभाष चन्द रोहिला, उत्तर प्रदेश के...
Read More  
अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद की बैठक मे प्रतिभाग कर रोहिला समाज से जनसम्पर्क

अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद की बैठक मे प्रतिभाग कर रोहिला समाज से जनसम्पर्क

14/06/2019

दिनांक 9 जून 2019 को अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद के भ्रमण कार्यक्रम को ऐसी भीषम गर्मी मे सफल बनाने के लिए व रोहिला समाज द्वारा दो तीन घंटे तक हमारी प्रतीक्षा करना ही समाज की एकता को प्रदर्...
Read More  
रोहिला आई टी आई टपरी पर निर्जला एकादशी के पावन पर्व पर यात्रियों को मीठे जल से तृप्त किया

रोहिला आई टी आई टपरी पर निर्जला एकादशी के पावन पर्व पर यात्रियों को मीठे जल से तृप्त किया

14/06/2019

दिनाँक 13 जून 2019 दिन बृहस्पतिवार को रोहिला आई टी आई टपरी पर निर्जला एकादशी के पावन पर्व पर यात्रियों को मीठे जल की सेवा से तृप्त किया। प्रतिभाग करते हुए रोहिला आयी टी आई के प्रिन्सिपल यशपाल सिंह रोह...
Read More  

लेख एवं गोष्ठियाँ

भारतीय संस्कृति में विवाह सम्बन्ध और गोत्र विधान

भारतीय संस्कृति में विवाह सम्बन्ध और गोत्र विधान

26/04/2019

ॐ नमःश्री गणेशाय हमारी संस्कृति में विवाह सम्बन्ध की स्थापना का बहुत महत्व है,इससे नव दम्पत्ति गृहस्त आश्रम में प्रवेश करते है,वैदिक शास्त्रों में यह यह सर्वोपरि माना गया है यथा नदीनदाः सर्वे सागरे या...
Read More  
उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 317 साल पुराना यह किला समेटे है रोहिल्ला राजपूतो का गौरवशाली इतिहास

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 317 साल पुराना यह किला समेटे है रोहिल्ला राजपूतो का गौरवशाली इतिहास

29/01/2019

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर में 317 साल पुराना यह किला राजपूतो द्वारा बनवाया था समेटे है रोहिल्ला राजपूतो का गौरवशाली इतिहास,1857 के प्रथम स्वतन्त्रता संग्राम गदर के बाद 151 साल पहले ब्रिटिशराज में इसे क...
Read More  
अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा राष्ट्रीय क्षत्रिय जनसंसद सम्मेलन का आयोजन – 21 सितम्बर 2018

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा राष्ट्रीय क्षत्रिय जनसंसद सम्मेलन का आयोजन – 21 सितम्बर 2018

06/10/2018

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा द्वारा आयोजित राष्ट्रीय क्षत्रिय जनसंसद सम्मेलन मे 21 सितम्बर 2018 को श्री शिव दत्त सिंह रोहिला जी ने भारत के कोने कोने से आये समस्त क्षत्रियो के मध्य रोहिला क्षत्रियो की उ...
Read More  

संपर्क करें

अपने विचार हमे भेजे

संपर्क करें

अखिल भारतीय रोहिला क्षत्रिय विकास परिषद (रजि॰)

( सम्बद्ध - अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा )
केन्द्रीय  कार्यालय -
रोहिला औधोगिक प्रशिक्षण संस्थान
सहारनपुर नांगल रोड,
नियर टपरी रेल्वे जंक्शन
टपरी, सहारनपुर
उत्तर प्रदेश - 247001

ई-मेल : info@rohilakshatriyavikasparishad.org

Map